इस परिचर्चा में ये मुख्य बिंदु डिस्कस किए गए –

  1. बाजारवाद और कंज़्यूमरिज़्म के बीच क्या भिन्नता होती है और ये हमें कैसे प्रभावित करती हैं ?
  2. आत्मनिर्भरता की ओर  तीन कदम क्या क्या हैं ?
  3. आत्मनिर्भरता के प्रभाव हमारे अपने जीवन पर और वैश्विक स्तर पर /   दूरगामी समय में ?
परिचर्चा की आयोजक – डॉ मीनाक्षी  बाजपेई, प्रेजिडेंट युवा संगिनी रायपुर
परिचर्चा की संचालनकर्ता – श्रीमती नूपुर दीक्षित दुबे  दुबई
परिचर्चा के मुख्य वक्ता – डॉ  अरविन्द अग्रवाल –  उद्यमी व  लेखक (नवी मुम्बई)

परिचर्चा में बताए गए लिंक –

उपनिषद् पुस्तक पुस्तक के साथ व्यवसाय उपनिषद् डिज़िटल के लिए बेनिफिट कोड YS3082020 (15  अक्टूबर 2020 तक वैध) के साथ फोरम  की सदस्यता – इस लिंक पर https://addwit.org/program/vyavsaay-upanishad-digital/  

केवल उपनिषद् पुस्तक पुस्तक के लिए ऑर्डर करें – इस लिंक पर https://addwit.org/shop/vyavsaay-upanishad/

इस परिचर्चा का आमंत्रण

अनेक उपयोगी विषयों पर ऐसी ही परिचर्चाएँ आयोजित करने के लिए संपर्क करें – व्हाट्सएप्प – +91 9406 668 664

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *