Addwit Schools

Addwit Schools System has been created around the key philosophy that child education is just as much about child development as much it is about parent development.

Addwit Schools System has dual curriculum - Academic Curriculum as prescribed by the experts and education boards for the child; and another fascinating and useful curriculum for the parents covering skills for parenting and management of family (popularly known as Addwit Elite Program).

You could start a new Addwit School all over, or enter a Knowledge Partnership with us for a currently operational school.

For detailed discussion, please join us in Addwit School Partnership Seminar where we will cover:

  • Rationale for the dual curriculum system and Addwit Elite Program
  • Steps involved in opening an Addwit School
  • Financial Matters and Future Plans of Addwit School System

We will also take your questions. Partnership Prospectus will be available in the Seminar.

Download fill and send ‘Addwit Schools - Expression of Interest so that we stay in touch.

अद्वित स्कूल सिस्टम अवधारणा के केंद्र में है यह फिलॉसोफी - बच्चों की शिक्षा का इस दोनों के साथ बराबरी का सम्बंध है  - बच्चों का विकास और पालकों (पेरेंट्स) का  विकास

अद्वित स्कूल सिस्टम में है दोहरा क्यूरिकुलम - बच्चों के लिए विशेषज्ञों / शिक्षा बोर्ड द्वारा निर्धारित शैक्षणिक क्यूरिकुलम एवं पालकों के लिए पेरेंटिंग स्किल्स और फेमिली मैनेजमेंट स्किल्स पर रोचक और उपयोगी क्यूरिकुलम (जो अद्वित  एलीट प्रोग्राम के नाम से भी जाना जाता है )

आप एक नया अद्वित  स्कूल शुरू कर सकते हैं या अपने स्कूल के लिए हमारे साथ नॉलेज-पार्टनरशिप कर सकते हैं

अधिक जानकारी के लिए आप अद्वित स्कूल पार्टनरशिप सेमिनार में आमंत्रित हैं जहाँ हम इन बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा करेंगे

  • अद्वित  स्कूल सिस्टम में दोहरे क्यूरिकुलम का औचित्य और अद्वित एलीट प्रोग्राम का विवरण
  • अद्वित स्कूल शुरू करने में स्टेप्स
  • फाइनेंसियल मैटर्स और अद्वित स्कूल सिस्टम की आगामी योजनाएँ

हम आपके प्रश्न भी अवश्य लेंगे | पार्टनरशिप प्रोस्पेक्टस इस सेमिनार में उपलब्ध होगा

एक्सप्रेशन ऑफ़ इंटरेस्ट डाऊनलोड करके भरकर हमें भेजें ताकि हम आपस में सम्पर्क में बने रह सकें