Current Status
Pre-order (200 places remaining)
Price
₹ 190
Get Started
This program is currently closed

TSAP – द स्ट्रेटेजिक एडवांटेज प्रोग्राम

हम सबने अनुभव किया होगा कि एक जैसी शिक्षा लिए हुए सहपाठियों की जीवन की गुणवत्ता एक जैसी नहीं होती – अतः कहा जा सकता है कि जीवन की गुणवत्ता औपचारिक शिक्षा पर निर्भर नहीं करती | जीवन की गुणवत्ता को हम आपसी बोलचाल में नाम कोई भी दें –  वर्क-लाइफ बेलेंस, सफलता, सम्पन्नता, संतुष्टि – हम सभी चाहते हैं कि यह “अच्छी” हो |

जीवन की गुणवत्ता को केंद्र में रखकर, अद्वित थिंकटैंक द्वारा  TSAP प्रोग्राम बनाया गया है | TSAP अर्थात द स्ट्रेटेजिक एडवांटेज प्रोग्राम – एक ऐसा कार्यक्रम जो ऐसा कुछ विशेष दे जो शिक्षा और समाज नहीं दे पा रहे हैं | अद्वित TSAP प्रोग्राम दस वर्षों के अनुसंधान के साथ बनाया गया है जिसका निष्कर्ष यह था कि जीवन की गुणवत्ता मात्र छह टर्निंग पॉइंट्स को भलीभांति हेंडल करने से संरक्षित की जा सकती है | 

  • आय के साधन (जॉब या व्यवसाय) का चुनाव और प्रबंधन 
  • आय (पैसे) के विषय में हमारी मान्यताएँ और व्यवहार 
  • पेरेंटिंग के विषय में हमारी मान्यताएँ और व्यवहार 
  • विवाह के विषय में हमारी मान्यताएँ और व्यवहार 
  • भाषा के विषय में हमारी मान्यताएँ और व्यवहार 
  • हमारी अपनी सेल्फ-डेफिनिशन अर्थात स्वाभिमान

जीवन के मात्र छह क्रिटिकल लाइफ पोज़िशन्स ! तदापि, मान्यताओं और व्यवहार में सकारात्मक परिवर्तन धीमे-धीमे ही आते हैं, और इसी प्रक्रिया को एक दिशा देना, इसका नेतृत्व करना अद्वित TSAP प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर की भूमिका को जीवंत और रोमांचक बना देता है | 

अद्वित TSAP प्रोग्राम 100% भारतीय मूल्यों पर केंद्रित फ्रेमवर्क पर आधारित है, आज सूचनायुग की परिस्थितियों के लिए भी कारगर है; एवं लोकसंग्रह को नई दिशा देने में सक्षम है | एक झलक लेने के लिए इसी प्रोग्राम में उपयोग में लाए जाने वाले कुछ पुस्तकों, वीडियो मैगज़ीन्स और क्यूरिकुलम की जानकारी आगे के पृष्ठों पर पढ़ें | 

अद्वित TSAP प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर की भूमिका के लिए प्रत्याशी सावधानीपूर्वक, एक रोचक सलेक्शन प्रक्रिया (नौ सत्रों का इंडक्शन, छोटे प्रोजेक्ट, दो राउंड की स्क्रीनिंग) द्वारा चुने जाते हैं | अद्वित TSAP प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर की मिलने वाली सुविधाएं हैं – १००% वर्क फ्रॉम होम, अपना डिजिटल डैशबोर्ड, वित्तीय रिवार्ड्स |

Program cycle – Jan, April, July, Oct. – each year after announcement