रोमांचक हिंदी स्वस्पर्धा

240290

(ऑनलाइन प्रोग्राम + प्रमाणपत्र के लिए एनरोलमेंट, पूरा विववरण यहाँ पढ़ें – भाषा हमारी अभिव्यक्ति होती है; भाषा हमारी पहिचान और स्वाभिमान बन जाती है | बीच-बीच में, सचेत होकर विश्लेषण करते रहना चाहिए – हमारी अपनी भाषा विकृति की ओर तो नहीं जा रही है (?) क्योंकि विकृतियाँ होती हैं, इसीलिए समय-समय पर विश्लेषण आवश्यक हो जाता है | इस वर्ष मनाएँ रोमांचक हिंदी दिवस – १४ सितम्बर, प्रतिदिन | [पुस्तक हिंदी भाषा शुद्धि शब्दावली भी उपलब्ध

]

SKU: N/A Category:

Additional information

Options

Join independently, Join with TSAP Coordinator