व्यवसाय उपनिषद्

व्यवसाय उपनिषद्

From: 4,922.00

व्यवसायी और उद्यमी – रुकें नहीं; थके नहीं

 


  • 512 पृष्ठ; हार्ड-कवर बाइंडिंग
  • हिंदी एडिशन (अंगेज़ी और गुजराती में शीघ्र ही)
  • दो में से एक विकल्प चुनें – (1) हार्डकवर पुस्तक स्वेच्छा से मूल्य निर्धारित करने की सुविधा के साथ और (2) स्टडीग्रूप (छः प्रतियों का सेट ) 20% डिस्काउंट के साथ
  • अर्ली ऑर्डर्स* पर 110% रिफंड के साथ सेटिस्फेक्शन गारंटी (* 31 दिसम्बर 2019 तक)
  • सेमिनार / वॉल्यूम डिस्काउंट / डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए सम्पर्क – care@addwit.org or +91 84335 60250
Clear

SKU: P101P102 Category:

व्यवसाई को एक प्रश्न अटका सकता है – एक प्रश्न जो या तो उसके विचार में नहीं आए, या जिसका उत्तर उसने नहीं ढूँढा | उदाहरण के लिए –

  1. व्यवसाई के परिवार और टीम में संवाद के विषयवस्तु क्या होते हैं ?
  2. छोटे व्यवसाय की सामाजिक आर्थिक महत्ता क्या होती है ? व्यवसाय के विस्तार की आधारभूत आवश्यकताएँ क्या होती हैं ?
  3. यदि छोटे और मध्यम व्यवसाय ना हो तो समाज बिखर सकता है; कैसे ?
  4. व्यवसाय के लिए अगली पीढ़ी को कैसे तैयार करें ?
  5. सुलझे हुए व्यवसाई अध्यात्म को किस तरह देखते हैं ?
  6. सुलझे हुए व्यवसाई पैसे को किस तरह देखते हैं ?
  7. पार्टनरशिप में मतभेद और आपसी टकराव को निपटाने के लिए क्या कोई तकनीक है ?
  8. व्यवसाय के पाँच प्रकार क्या-क्या होते हैं ?
  9. वास्तव में व्यवसाय क्या होता है ?
  10. व्यवसाई को मनोविज्ञान के कौन-कौन से गुर मालूम होने चाहिए ?
  11. सिर्फ बिक्री पर आधारित व्यवसाय कभी-ना-कभी क्यों कमजोर पड़ जाते हैं ?
  12. सुलझे हुए व्यवसाई रिस्क को किस तरह देखते हैं ?
  13. सरकते-घिसटते हुए व्यवसाय और प्रगति करते हुए व्यवसाय में कहाँ फर्क आ जाता है ?
  14. क्या व्यवसाई के लिए औपचारिक शिक्षा पर्याप्त होती है ?
  15. चापलूस कर्मचारी और निष्ठावान कर्मचारी के बीच भेद कैसे करें ?
  16. व्यवसाई कर्मचारी कैसे चुनते हैं; कैसे फिल्टर करते हैं ?
  17. क्या कर्मचारी को सिर्फ काम आना काफी होता है ?
  18. संपर्क-क्रांति के दौर में अपने बिजनेस का पुनर्विन्यास किस तरह किया जाना चाहिए ?
  19. डाइवर्सिफाई करना कब उचित है, और कब नहीं ?
  20. क्या नैतिकता और समृद्धि के बीच कोई सीधा संबंध है ?
  21. व्यवसाई अपने विचार शैली में स्पष्टता कैसे लाते हैं ?
  22. प्रगति करते हुए व्यवसाय को बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स कैसे बनाना चाहिए और क्यों
  23. ग्राहकों को क्या पसंद है; क्या नापसंद है; बिक्री से पहले कितना कुछ हो चूका होता है ?
  24. क्या ग्राहकों से भी गलतियाँ होती हैं ?
  25. रचनात्मकता यानी क्रिएटिविटी क्या होती है ?
  26. व्यवसाई के अंदर दूरदृष्टि कैसे आती है ?
  27. व्यवसाय जन-जन का जीवन सरल कैसे बना देते हैं ?
  28. क्या व्यवसाय की सफलता असफलता सिर्फ पूँजी पर निर्भर करती है ?
  29. उपनिषद् क्या होता है ? व्यवसाई परिवार के लिए इसकी क्या उपयोगिता है ?
  30. व्यवसाई छोटे-बड़े निर्णय कैसे लेते हैं ?

इसी तरह के सैकड़ों प्रश्न 225 चर्चाओं के माध्यम से 512 पृष्ठों की उत्कृष्ट सामग्री 180 चित्रण के साथ और 80 छोटे-छोटे एनेक्डोट्स के साथ, अधिकतम न्यूनतम के बीच स्वेच्छा से मूल्य निर्धारित करने की सुविधा सिर्फ addwit.org पर

कृपया चुनें

हार्डकवर (पुस्तक), स्टडी ग्रुप ( छह प्रतियों का सेट), ऑडिओ -वीडियो माध्यम

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “व्यवसाय उपनिषद्”
Scroll to Top